उत्तराखंड श्रमिक कार्ड आवेदन फॉर्म How to make Uttarakhand Shramik Card

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड आवेदन फॉर्म || Uttarakhand Shramik Card Application Form || श्रमिक कार्ड आवेदन फॉर्म डाउनलोड कैसे करें उत्तराखंड श्रमिक कार्ड के फायदे || श्रमिक कार्ड कैसे बनाया जाता है || श्रमिक कार्ड के लिए क्या-क्या दस्तावेज चाहिए

How to make Uttarakhand Shramik Card – श्रमिक कार्ड क्या होता है श्रमिक कार्ड मजदूरों का एक पहचान कार्ड होता है जिससे यह पहचान की जाती है कि यह श्रमिक बीओसीडब्लू विभाग यानी बिल्डिंग एंड दर कंस्ट्रक्शन वर्कर जिसे हम भवन निर्माण या फिर अन्य जो श्रमिक जो असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर हैं उनको श्रमिक कार्ड दिया जाता है श्रमिक कार्ड के लिए मजदूरों को आवेदन करना होता है जिसके बाद बीओसी यानी उत्तराखंड बीओसीडब्ल्यू विभाग पंजीकरण करके उन्हें एक कार्ड या डायरी देते हैं जिसे हम श्रमिक कार्ड कहते हैं श्रमिक कार्ड के तहत कई तरीके के लाभ मिलते हैं जिनके बारे में भी यहां हम बात करेंगे कि श्रमिक कार्ड से होने वाले फायदे क्या हैं सर मैं कार्ड किस तरीके से बनाया जाता है श्रमिक कार्ड के लिए क्या-क्या दस्तावेज की हमें आवश्यकता होती है श्रमिक कार्ड कौन से मजदूर बना सकते हैं श्रमिक कार्ड से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जानेंगे इस आर्टिकल में लास्ट तक पढ़ते रहिए |

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड आवेदन फॉर्म How to make Uttarakhand Shramik Card

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड के बारे में – About Uttarakhand Shramik Card

Uttarakhand Shramik Card – उत्तराखंड के श्रमिकों को जिन मजदूरों के पास श्रमिक कार्ड बना हुआ है उन श्रमिकों को सरकार द्वारा यानी बीओसीडब्ल्यू विभाग द्वारा कई तरह की योजनाओं का लाभ दिया जाता है जैसे छात्रवृत्ति योजना यानी श्रमिकों के बच्चों को पढ़ाई के लिए शिक्षा के लिए कक्षा 5 से डिग्री डिप्लोमा तक छात्रवृत्ति दी जाती है इसके अलावा मजदूरों की बेटियां यानी शर्मा की श्रमिकों की बेटियों को 18 बरस के बाद विवाह करने पर ₹50000 तक का दो बेटियों को लाभ दिया जाता है यानी एक बेटी के विवाह पर ₹50000 की राशि दी जाती है इसी तरीके से कई अन्य योजनाएं जैसे श्रमिक आवास योजना श्रमिक टूलकिट योजना श्रमिक उपकरण योजना श्रमिक साइकिल योजना जैसी श्रमिक कार्ड की कई तरीके की योजनाएं जिनका लाभ श्रमिक कार्ड धारकों को दिया जाता है |

राज्य में ऐसे मजदूर जो दिहाड़ी मजदूरी करके अपना घर चलाते हैं अपने बच्चों को भी पढ़ाना चाहते हैं पर आर्थिक तंगी के कारण पढ़ाना उनकी शिक्षा पूरी नहीं कर पाते  ऐसे मजदूरों को आर्थिक मदद देने के लिए व अन्य कई तरीके की सहायता देने के लिए श्रमिक कार्ड योजना शुरू हुई यह योजना एक अधिनियम के तहत लागू होती है जो मजदूरों को सुरक्षा व सही बिहारी सही मजदूरी मजदूरों को मिल सके इसके लिए एक विवाद भी स्थापित हुआ यानी एक विभाग बनाया गया जिसे हम बीओसीडब्ल्यू वेलफेयर बोर्ड के नाम से जानते हैं यह विवाद मजदूरों के लिए नई नई योजनाएं व उनकी आवश्यकताओं के अनुसार उनके आर्थिक स्थिति के अनुसार योजनाएं शुरू करता है और उनका लाभ मजदूरों को यानी श्रमिकों को देता है इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए श्रमिकों को अपना श्रमिक कार्ड बनाने के लिए पंजीकरण करवाना होता है

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड कैसे बनाएं – How to make Uttarakhand Shramik Card

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड बनाने के लिए श्रमिकों को ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन आवेदन करना होता है आवेदन करने के लिए एक आवेदन फॉर्म की आवश्यकता होती है जिसके बारे में भी हम यहां पर चर्चा करेंगे श्रमिक कार्ड बनाने से पहले आपको बता दें कि श्रमिक कार्ड जो श्रमिक 1 साल में 100 दिन कार्य कर लेते हैं और उसका विवरण उनके पास है वह श्रमिक कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं या नहीं श्रमिक कार्ड अप्लाई करते समय 100 दिन किए गए कार्य का विवरण साथ में दर्ज करना होता है जिसके अंदर आप चाहे भवन निर्माण सड़क निर्माण या फिर लोहार लकड़ी चीरने वाला कुआं खोदने वाला कोई भी ऐसा मजदूर जो मजदूरी कर अपना घर चलाता हो तो ऐसे मजदूर अगर 1 साल में 100 दिन कार्य करते हैं तो वह श्रमिक कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं

इसके साथ आपको बता दें जो नरेगा के अंदर जो जॉब कार्ड वाले मजदूर है वह भी श्रमिक कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं तो चलिए जानते हैं श्रमिक कार्ड के लिए पात्रता क्या है वह कौन से ऐसे मजदूर हैं जो असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं और कैसे श्रमिक कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं

What is Uttarakhand Shramik Card Eligibility – उत्तराखंड श्रमिक कार्ड पात्रता क्या है

जैसा कि आपको पता है श्रमिक कार्ड है वह असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों का बनता है तो आइए जानते हैं कि कौन-कौन से मजदूर असंगठित क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं यहां पर कुछ श्रमिकों की सूची दी गई है जिससे यह समझा जा सकता है कि असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कौन-कौन से मजदूर आते हैं 

भवन निर्माण का कार्य करने वाले मजदूर सड़क निर्माण का कार्य करने वाले मजदूर कुआं खोदने वाले मजदूर कंक्रीट का मिश्रण करने वाले मजदूर रोलर चलाने वाले मजदूर राजमिस्त्री लकड़ी चीरने वाले मजदूर वेल्डिंग करने वाले मजदूर सड़क पर पुल बनाने वाले मजदूर बिजली के मिस्त्री लोहार कुमार आदि ऐसे कार्य करने वाले जो अपनी दिनचर्या से यानी दिन भर काम कर मजदूरी कर अपना घर चलाते हैं ऐसे मजदूर श्रमिक कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड की पात्रता क्या है – What is the eligibility of Uttarakhand Shramik Card

  • श्रमिक कार्ड बनाने के लिए उत्तराखंड का स्थाई निवासी होना जरूरी है
  • ऐसे श्रमिक जिनकी वार्षिक आय ₹100000 से कम है वह श्रमिक कार्ड बनवा सकते हैं
  • श्रमिक कार्ड बनाने के लिए 1 वर्ष में कम से कम 100 दिन कार्य किया होना चाहिए
  • श्रमिक कार्ड की योजनाओं का लाभ लेने के लिए उन सभी योजनाओं के अलग-अलग पात्रता ओं को पूरा करना होता है 
  • परिवार में महिला व पुरुष दोनों श्रमिक कार्ड बनवा सकते हैं
  • श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए श्रमिक की आयु 18 से 55 वर्ष होनी चाहिए

यह भी पढ़े

श्रमिक कार्ड के फायदे और लाभ क्या क्या मिलते हैं – What are the benefits and benefits of labor card

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड से क्या क्या लाभ मिलते हैं यहां कुछ श्रमिक कार्ड की योजनाओं की लिस्ट दी गई है इन सभी योजनाओं का लाभ उन श्रमिकों को मिलता है जिनके पास श्रमिक कार्ड है यानी बीओसीडब्ल्यू विभाग में जो श्रमिक पंजीकृत हैं उन श्रमिकों को इन योजनाओं का लाभ मिलता है 

  • उत्तराखंड श्रमिक कार्ड के तहत श्रमिकों के बच्चों को कक्षा 5 से डिग्री डिप्लोमा तक पढ़ने के लिए छात्रवृत्ति दी जाती है 
  • श्रमिकों की बेटियों को 18 वर्ष के बाद विवाह करने पर 50 ₹50000 की सहायता राशि दी जाती है यह श्रमिक की दो बेटियों के विवाहित की दी जाती है
  • श्रमिकों को उपकरण खरीदने के लिए भी सहायता राशि दी जाती है 
  • उत्तराखंड श्रमिकों को आवास बनाने के लिए यानी घर बनाने के लिए ₹150000 तक की सहायता राशि दी जाती है जिसमें ₹120000 घर बनाने के लिए वह ₹12000 शौचालय बनाने के लिए वह ₹18000 नरेगा मजदूरों की मजदूरी के लिए दिए जाते हैं
  • श्रमिक कार्ड योजना के तहत श्रमिकों की मृत्यु होने पर या फिर कार्य करते समय घायल होने पर कई तरह के के लाभ मिलते हैं जिसमें से ₹100000 से लेकर ₹500000 तक का लाभ दिया जाता है 
  • उत्तराखंड श्रमिकों को जीवन ज्योति भविष्य योजना व अन्य कई बीमा योजनाओं का लाभ फ्री में दिया जाता है
  • इनके अलावा भी श्रमिकों के लिए कई योजनाएं शुरू की गई है पेंशन योजनाओं का लाभ भी दिया जाता है खाद्य सुरक्षा का लाभ भी श्रमिक कार्ड धारकों को दिया जाता है वह अन्य कई लाभ श्रमिक कार्ड धारकों को मिलते हैं जो बीओसीडब्ल्यू विभाग में पंजीकृत श्रमिक है उन्हें इन योजनाओं का लाभ दिया जाता है

Required Documents – उत्तराखंड श्रमिक कार्ड बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज 

श्रमिक कार्ड बनाने के लिए कौन कौन से दस्तावेज की आवश्यकता होती है यहां पर आपको कुछ दस्तावेज की लिस्ट दी गई है इन दस्तावेज के साथ आप उत्तराखंड श्रमिक कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं 

  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक
  •  आय प्रमाण पत्र
  •  राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  •  नरेगा जॉब कार्ड
  • भरा हुआ आवेदन फॉर्म

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड आवेदन फॉर्म डाउनलोड कैसे करें ऑनलाइन आवेदन कैसे करें 

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड बनाने के लिए आप ऑनलाइन कैसे आवेदन कर सकते हैं स्टेप बाय स्टेप जानने के लिए यहां आपको एक लिंक मिलेगा उस लिंक पर सबसे पहले क्लिक करें लिंक पर क्लिक करने के बाद में आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा इस पेज में आपको नीचे ही नीचे श्रमिक कार्ड ऑनलाइन अप्लाई प्रोसेस व अन्य हेल्पलाइन नंबर आदि की जानकारी मिलेगी जहां से आप उत्तराखंड श्रमिक कार्ड बनाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं जहां आपको श्रमिक कार्ड की अधिकारी वेबसाइट का लिंक भी मिल जाएगा किस तरीके से ऑनलाइन अप्लाई करना है कैसे आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना है आधी जानकारी आपको मिल जाएगी तो यहां दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर आप श्रमिक कार्ड ऑफलाइन सीएससी सेंटर के माध्यम से भी बनवा सकते हैं सीएससी सेंटर यानी कॉमन सर्विस सेंटर अपने नजदीकी सभी दस्तावेज अपने साथ ले जाएं और वहां जाकर आप कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं 

श्रमिक कार्ड हेल्पलाइन नंबर 

उत्तराखंड श्रमिक कार्ड बनाने के लिए अगर आपको किसी भी प्रकार की समस्या आ रही है या फिर आपको कोई जानकारी प्राप्त करनी है तो आप उत्तराखंड श्रमिक कार्ड हेल्पलाइन नंबर पर सहायता प्राप्त कर सकते हैं अगर आपको श्रमिक कार्ड से संबंधित कोई शिकायत दर्ज करनी है तो आप दिए गए शिकायत नंबर पर कॉल कर अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं यहां आपको उत्तराखंड श्रमिक कार्ड हेल्पलाइन नंबर कैसे प्राप्त होंगे उसकी जानकारी दी गई है आप दी गई जानकारी से उत्तराखंड उत्तराखंड श्रमिक कार्ड हेल्पलाइन नंबर प्राप्त कर सकते हैं

  • सबसे पहले आपको अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • यहां जाने के बाद में आपको होम पेज पर संपर्क सूत्र का ऑप्शन मिलेगा
  • आप इस पर क्लिक करना है जिसके बाद नया पेज ओपन होगा
  • इस पेज में आपको श्रमिक कार्ड हेल्पलाइन नंबर व ईमेल आईडी आदि मिल जाएंगे
  • जिन पर कॉल कर आप सहायता प्राप्त कर सकते हैं

नोट यहां आपको उत्तराखंड श्रमिक कार्ड के बारे में हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी अगर आपको ऐसी सरकारी योजनाओं की जानकारी यानी लेबर कार्ड से जुड़ी जानकारी चाहिए तो आप हमारी इसी वेबसाइट के होम पेज पर जाकर उत्तराखंड श्रमिक कार्ड की केटेगरी पर क्लिक करके उत्तराखंड श्रमिक कार्ड की योजनाओं के बारे में भी जान सकते हैं इसके अलावा श्रमिक कार्ड के आने वाले नए अपडेट के बारे में भी जानने के लिए आप labourcards.com वेबसाइट अपने होमपेज में सेव कर सकते हैं अगर जानकारी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *