Categories
MADHYPRADESH LABOUR CARD

श्रमिक पेंशन योजना 2021 मध्यप्रदेश ऑनलाइन आवेदन फॉर्म Shramik Pension Yojana

श्रमिक पेंशन योजना ऑनलाइन आवेदन | Shramik Pension Yojana Online Apply | श्रमिक पेंशन योजना के बारे में जानकारी | Shramik Pension Yojana Application Form | श्रमिक पेंशन योजना से होने वाले लाभ क्या क्या है | Shramik Pension Yojana In Hindi Status | श्रमिक पेंशन योजना 2021

जो श्रमिक लोग पंजीकृत है जो हर साल लेबर कार्ड के तहत जमा होने वाले अंशदान को जमा सही समय पर करवाते है उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा श्रमिक पेंशन योजना मध्यप्रदेश सरकार की और से सुरु की गई योजना है जो श्रमिक लोग निर्माण कार्य या फिर अन्य किसी कार्य को करके अपनी रोजी रोटी कमाते है जिनकी आर्थिक स्तिथि बहुत कमजोर होती है जो 60 साल की आयु को पार कर जाते है जिसके बाद उनके जीवन का सहारा बनने वाला कोई नही होता है जिससे उन्हें अपना जीवन जीने में काफी कठनाइयों का सामना करना पड़ता है ऐसे श्रमिकों को अब इन सभी समस्याओं से नही लड़ना पड़ेगा

क्योंकि सरकार की इस योजना के तहत पंजीकृत श्रमिक को हर म्हिएँ तय नियमानुसार पेंशन राशि उसके बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जायेगी इस योजना का लाभ ऑफलाइन आवेदन करके लिया जा सकता है तथा इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट भी जारी की गई है जिसके माध्यम से पंजीकृत मजदूर कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकता है तो आइये जानते अहि क्या है इस श्रमिक पेंशन योजना का मुख्य उदेश्य क्या क्या इसके आवेदन में दस्तावेजों की जरूरत है आदि के बारे में जानकारी

श्रमिक पेंशन योजना (Shramik Pension Yojana MP):-

मध्यप्रदेश सरकार की इस योजना का लाभ वही श्रमिक लोग ले सकते है जो हर साल भारत सरकार की और से सुरु की गई स्वालम्बन पेंशन योजना में हर साल 1 हजार रूपये की प्रीमियम राशि का अंशदान जमा करवाता है उसे इस योजना का लाभ दिया जाएगा इस पेंशन योजना को मध्यप्रदेश श्रम विभाग कल्याण मंडल की और से संचालित किया जा रहा है जो निर्माण कार्य में लगे हुए है उनके लिए इस योजना को सुरु किया गया है इस योजना का लाभ ऑफलाइन आवेदन करके लिया जा सकता है क्योंकि इसके ऑनलाइन आवेदन सुरु नही किये गये है जी पंजीकृत मजदूर लोग हर साल 1 हजार रूपये की प्रीमियम राशि का भुगतान करते है

उन्हें इस योजना के तहत सरकार की और से प्राण कार्ड दिए जायेगे जिसके जरिये उन्हें इस Shramik Pension Yojana का लाभ लेने में काफी आसानी हो जायेगी प्राण कार्ड एक रजिस्ट्रेशन अकाउंट नंबर होता है जो श्रम विभाग कल्याण मंडल की और से जारी किया जाता है मध्यप्रदेश सरकार की और से वैसे तो इस योजना को 2013 में सुरु किया गया था जिसका नाम भवन एवं सनिर्माण श्रमिक पेंशन योजना दिया गया था लेकिन बाद में इस योजना में और विस्तार कर दिया गया जिसके बाद हर उस पंजीकृत मजदूर को इसका लाभ दिया जाने लगा जो इसका सही हकदार है जो मजदूर लोग सही समय पर 1000 रूपये की अंशदान राशि को जमा करवाते है

उनकी सरकार की तरफ से एक सूचि जारी की जाती है जिसके तहत उन्हें इसका लाभ दिया जाता है जिनका नाम जारी की गई सूचि में शामिल होता है उन्हें हर महीने श्रम विभाग की और से पेंशन राशि प्रदान की जाती है श्रमिक पेंशन योजना के तहत जिन जिन श्रमिकों को हर महीने पेंशन राशि उन्हें बैंक खातों में ट्रांसफर की जाती है उनकी एक सूचि तैयार करके सरकार की और से प्रेषित कर दी जाती है

MADHYPRADESH LABOUR CARD

मध्यप्रदेश लेबर कार्ड लिस्ट
दो पहिया वाहन क्रय योजना
मध्यप्रदेश लेबर कार्ड पंजीयन फॉर्म
पंडित दीनदयाल उपाध्याय निर्माण पीठा श्रमिक आश्रय योजना मध्यप्रदेश 
मुख्यमंत्री निर्माण कर्मकार ग्रामीण आवास योजना
खिलाड़ी प्रोत्साहन योजना
मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शहरी भवन एवं सनिर्माण कर्मकार आवास योजना
श्रमिक मृत्यु अन्त्येस्टि सहायता योजना मध्यप्रदेश
 मध्यप्रदेश लेबर कार्ड नवीनीकरण फॉर्म 2021
मध्यप्रदेश श्रमिक साइकिल क्रय योजना
श्रमिक पेंशन योजना
मध्यप्रदेश चिकित्सा सहायता योजना
निर्माण श्रमिक रैन बसेरा योजना
श्रमिक औजार/उपकरण खरीद अनुदान योजना
विवाह सहायता योजना 
प्रसूति सहायता योजना

Shramik Pension Yojana MP उदेश्य:-

जो किसी सरकारी या फिर निजी भवन निर्माण कार्य में लगे हुए है जिनकी वार्षिक आय बहुत ज्यादा कम है ऐसे पंजीकृत श्रमिक को इस योजना का पात्र माना गया है क्योंकी श्रमिक लोग जीवन भर कमाते है और अपने परिवार का पालन पोषण करते है मगर जब वृधावस्था उनको अपना शिकार बना लेती है तो उन्हें अपना जीवन यापन करने में काफी ज्यादा दिक्कत होती है अपने परिवार के लोग ही उन्हें खुद पर बोझ मानने लग जाते है

ऐसे श्रमिकों को अब सरकार की इस Shramik Pension Yojana MP के तहत हर महीने पेंशन राशि का लाभ दिया जाएगा मगर इस योजना के लिए कुछ तय शर्तें भी है जिनका पालन करने वाले मजदूर को इस योजना का सही पात्र माना जाएगा यानी जो मजदूर हर साल 1000 रूपये की राशि लेबर कार्ड के तहत अंशदान के रूप में जमा करवाते है उन्हें वृद्धवस्था या फिर विकलांगता के शिकार होने पर पेंशन राशि दी जाती है इस श्रमिक पेंशन योजना के जरिये मिलने वाली पेंशन राशि के लिए श्रमिक को कही जाने की जरूरत नही है

उसके बैंक अकाउंट में हर महीने निर्धारित की गई पेंशन राशि भेज दी जाती है आपकी जानकारी के लिए ये भी बता दे की जो पंजीकृत श्रमिक 5 वर्ष से सही समय पर तय किये गये अंशदान को जमा करवाता आ रहा है वही इस योजना का लाभ ले पायेगा जो मजदूर कभी समय पर तो कभी समय पर नही जमा राशि करवाते है वो इस श्रमिक पेंशन योजना के पात्र नही बन पायेगे

श्रमिक पेंशन योजना के लाभ:-

  • मध्यप्रदेश के श्रमिक जो पंजीकृत अहि उन्हें हर महीने 1 हजार रूपये की पेंशन राशि आर्थिक सहायता राशि के रूप में सरकार की और से दी जायेगी
  • मजदूरों की कमजोर आर्थिक हालत में सुधार आएगा
  • किसी भी मजदूर को पैसे के लिए किसी अन्य व्यक्ति के सामने परेशान नही हों होगा
  • इस योजना को श्रमिकों के कल्याण के लिए सुरु किया गया है
  • यदि किसी पंजीकृत श्रमिक की मृत्यु हो जाती है तो मिलने वाली पेंशन राशि में से 50% राशि उसकी पत्नी को हर महीने उसके बैंक खाते में भेजी जायेगी

श्रमिक पेंशन योजना के लिए पात्रता क्या है?

  • जो मध्यप्रदेश राज्य के स्थाई मजदूर लोग है वो इस श्रमिक पेंशन योजना के सही हकदार माने गये है
  • जो किसी भवन निर्माण कार्य से जुड़े हए है उन मजदूरों को हर महीने पेंशन राशि दी जायेगी
  • लेबर कार्ड धारक श्रमिक इस श्रमिक पेंशन योजना का लाभ ले सकते है
  • जो श्रमिक 5 साल तक सही समय पर लेबर कार्ड के जरिये अंशदान जमा करवाते है वो मजदूर इस योजना के लिए योग्य है
  • मजदूर के नाम से बैंक में खाता होना जरूरी है

दस्तावेज कोन कोनसे है?

  • श्रमिक का राशन कार्ड
  • उसका आधार कार्ड
  • लेबर कार्ड (मजदूर कार्ड)
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदक के साथ साथ नॉमिनी का आधार कार्ड

आवेदन की प्रक्रिया क्या है?

  • आप इसके लिए ऑफलाइन आवेदन कर सकते है
  • सबसे पहले आप अपने क्षेत्र के सनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के कार्यालय में जाए जंहा से आपको इस श्रमिक पेंशन योजना का आवेदन पत्र लेना है
  • इसके बाद मजदूर को इस आवेदन फॉर्म में जानकारियों को भरना है और जो दस्तावेज बताये गये उन्हें इसके साथ में सलंग्न करना है
  • इसके बाद मजदूर को इस आवेदन पत्र को कार्यालय में जमा करवा देना है

ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया क्या है?

  • सबसे पहले आप इस श्रमिक पेंशन योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाए http://shramsewa.mp.gov.in/hi-in/
  • इसके बाद आपके सामने इस श्रमिक पेंशन योजना का मेंन पृष्ठ खुल जाएगा
  • इस मेंन पेज में आपको योजनाएं का लिंक दिखाई देगा जिस पर क्लिक करना है जिसके बाद इसका एक और अगला पेज खुल जाए
  • नया पेज खुलने के बाद इसमें आपको पेंशन योजना का ऑप्शन दिखाई देगा
  • इस ऑप्शन पर आपको क्लिक करना है जिसके बाद एक और पेज ओपन होगा जिसमे आपको View Attachment के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक और पेज ओपन हो जाएगा जो इस श्रमिक पेंशन योजना का आवेदन फॉर्म है जिसे आपको डाउनलोड करना है
  • इस आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करने के बाद आपको इसे सही सही भरना है और दस्तावेज लगाकर इसे कार्यालय में जमा करवा देना है जिसके बाद आपका ऑनलाइन आवेदन हो जाएगा

श्रमिक पेंशन योजना मध्य प्रदेश के बारे में जो जानकारी इस आर्टिकल में हमारी तरफ से बताई गई है आपको कैसी लगी कमेंट करें यदि जानकारी आपको सही और ठीक लगे तो आप इसे आगे भी अपने दोस्तों को शेयर करें श्रमिकों के लिए मध्यप्रदेश सरकार तथा केंद्र सरकार की ओर से जिन जिन योजनाओं को शुरू किया जाता है उनके बारे में हम आपको नई नई जानकारी आर्टिकल के जरिए पहुंचाते रहेंगे

Categories
BIHAR LABOUR CARD

बिहार सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना 2021 Sevanivriti Shramik Pension Yojana Online Registration

सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के बारे में | Sevanivriti Shramik Pension Yojana online panjiyan | Sevanivriti Shramik Pension Yojana bihar online status | Sevanivriti Shramik Pension Yojana online application formin hindi | सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना ऑनलाइन पंजीयन फॉर्म | Sevanivriti Shramik Pension Yojana apply form last date | सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना में आवेदन करने से क्या क्या लाभ है |

Sevanivriti Shramik Pension Yojana:–जिन श्रमिको की आयु 60 वर्ष की हो जाती है उन्हें बिहार सरकार की और से हर महीने तीन हजार रूपये की पेंशन राशि दी जाती है ये राशि सिर्फ पंजीकृत श्रमिक को सेवानिवृत हो जाने पर ही दी जाती है ताकि वह इस राशि के सहयोग से अपना जीवन आसानी से व्यतीत कर सके श्रमिक की 60 वर्ष की आयु हो जाने के बाद वह अपना जीवन यापन करने में समर्थ नही होता है जिसके चलते उसे परिवार से पैसे अपने जीवन गुजारने के लिए लेने पड़ते है ऐसे श्रमिकों को बिहार सरकार की और से इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के तहत हर महीने पेंशन राशि दी जायेगी

ये पेंशन राशि सेवानिवृत श्रमिक के खाते में हर महीने सही निर्धारित समय पर भेज दी जाती अहि जिन श्रमिकों की आयु 60 वर्ष हो गई है वो इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के लाभ हेतु ऑफलाइन आवेदन या ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते है श्रम संशाधन विभाग बिहार सरकार की और से इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना को संचालित किया जा रहा है सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए बिहार राज्य के श्रमिक अक पंजीकृत होना बहुत जरूरी है क्योंकि जिन श्रमिक के पास श्रमिक कार्ड जैसा महत्वपूर्ण दस्तावेज नही है उसे इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के लाभ हेतु शामिल नही किया जाएगा

बिहार सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना (Sevanivriti Shramik Pension Yojana):-

Sevanivriti Shramik Pension Yojana को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के तहत सुरु किया गया अहि इस योजना के तहत बिहार राज्य के सभी पंजीकृत श्रमिकों को 60 वर्ष की आयु पूर्ण कर लेने के बाद हर महीने 3 हजार रूपये की पेंशन राशि दी जायेगी ये पेंशन राशि सेवानिवृत श्रमिकों के बैंक खाते में हर महीने सही समय पर भेजी दी जाती है जिन श्रमिकों ने सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए अभी तक अपना पंजीयन फॉर्म नही भरवाया है वो अपने ग्राम पंचायत यानी जो श्रमिक ग्रामीण क्षेत्र से है वो अपने ग्राम पंचायत के कार्यालय में जाकर के ऑफलाइन आवेदन फॉर्म जमा करवा सकते है

या फिर वो श्रम संसाधन विभाग के कार्यालय में जाकर के जमा करवा सकते है और जो श्रमिक शहरी क्षेत्र से है वो नगर निकाय या फिर नगरीय पंचायत समिति के कार्यालय में या श्रम संसाधन विभाग के कार्यालय में जाकर के जमा करवा सकते है आपकी जानकारी के लिए बता दे की बिहार राज्य में लगभग 15 लाख श्रमिक पंजीकृत है और जिसमे से लगभग 1.50 लाख श्रमिक सेवानिवृत हो चुके है उन श्रमिक की आयु 60 वर्ष पूर्ण हो जाने के बाद ही उसे इसका लाभ दिया जाएगा बिहार सरकार की और से राज्य के सारे जिलों में इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना को सुरु किया गया है

हर महीने करना होता है निवेश:-

सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के तहत पंजीकृत श्रमिक को हर महीने अपनी और से कुछ प्रीमियम राशि का निवेश करना होता है ये निवेश श्रमिक अपनी आयु 60 वर्ष पूर्ण होने तक ही कर सकता है जब श्रमिक की आयु 60 वर्ष पूर्ण हो जाती है उसके बाद में उसे अपनी और से किसी भी प्रीमियम राशि का भुगतान नही करना होगा उसके बाद उसे जमा करवाए गये प्रीमियम राशि के हिसाब से हर महीने पेंशन राशि उसके खाते में प्रदान की जायेगी ये पेंशन राशि श्रमिक को उसकी मृत्यु तक दी जायेगी

श्रमिक की मृत्यु के बाद पत्नी ले सकती है पेंशन राशि:-

जिन पंजीकृत श्रमिकों ने इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के तहत हर महीने प्र्मियम राशि जमा करवाई है और उन्हें हर महीने 3 हजार रूपये की पेंशन राशि मिल रही है और किसी कारणवंस उसकी मृत्यु हो जाती है तो मिलने वाली पेंशन राशि में से 50% भाग श्रमिक की पत्नी ले सकती है यदि श्रमिक की पत्नी की मृत्यु हो चुकी है तो इस पेंशन राशि को श्रमिक का बेटा या फिर उसकी अविवाहित बेटी राशि को प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते है मगर श्रमिक सदस्यता कार्ड में उनका नाम होना जरूरी है

उदेश्य:-

सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना का मुख्य उदेश्य है की जो व्यक्ति श्रमिक है और पंजीकृत है उसे 60 वर्ष की आयु के बाद हर महीने पेंशन राशि दी जायेगी इस पेंशन राशि को प्राप्त करने के लिए श्रमिक को 18 साल से लेकर 60 साल तक की आयु में प्रीमियम राशि का भुगतान करना होता है जिसके बाद उसे पेंशन राशि दी जाती है बिहार सरकार का मानना है की बहुत से श्रमिक ऐसे है जिनकी वार्षिक आय कम होने के कारण वो अपने लिए धनराशी इकठा नही कर पाते है और जब 60 साल की आयु के हो जाते है तो उसके बाद उन्हें अपना जीवन जीने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है

उन्हें अपने दैनिक जीवन में काम में आने वाली वस्तुओं को खरीदने में काफी मुस्किल होती है धनराशी न होने के कारण वो बहुत सी जरूरतों के सामान को नही खरीद पाते है ऐसे सेवानिवृत श्रमिकों को इनकी समस्याओं से निजात दिलाने के उदेश्य से बिहार राज्य के श्रम संसाधन विभाग की और से इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना को सुरु किया गया है वैसे इस योजना को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के तहत संचालित किया जा रहा है इसे श्रमिक को 60 साल की आयु पूर्ण हो जाने के बाद हर महीने 3 हजार रूपये की पेंशन राशि दी जाती है

सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के लिए पात्रता:-

  • जो श्रमिक सेवानिवृत हो जाते है उनके लिए सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना को सुरु किया गया है
  • श्रमिक की वार्षिक आय 3 लाख रूपये से अधिक होनी जरूरी है
  • श्रमिक बिहार राज्य के स्थाई निवासी होना चाहिए
  • पंजीकृत मजदूर को हर महीने निर्धारित प्रीमियम राशि का निवेश करना होगा
  • श्रमिक की आयु 60 वर्ष होने के बाद उसे पेंशन अरशी हर महीने दी जायेगी
  • श्रमिक अपनी और से जितनी प्रीमियम राशि का निवेश करता है उसे उतनी ही पेंशन राशि दी जायेगी

सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के लाभ:-

  • बिहार राज्य के पंजीकृत श्रमिकों को हर महीने 3000 रूपये की पेंशन राशि दी जायेगी
  • श्रमिक को इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के लाभ हेतु ऑफलाइन आवेदन करना होगा क्योंकि ऑनलाइन आवेदन इस योजना के लिए नही किया जा सकता है
  • श्रमिक अपनी 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के बाद मिलने वाली पेंशन राशि के सहारे आसानी से अपना जीवन यापन कर सकेगा
  • प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के तहत इस सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना को सुरु किया गया है इसमें श्रमिक अपनी और से जितनी राशि का निवेश करता है उसे उतनी ही पेंशन राशि दी जायेगी

बिहार लेबर कार्ड कि सभी योजना

डॉक्यूमेंट सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना में कोन कोनसे काम आयेगे?

  • हरमीक का बैंक पास बुक नंबर
  • राशन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • लेबर कार्ड (श्रमिक कार्ड)
  • आय प्रमाण पत्र
  • फ़ोन नंबर
  • मूल निवाश प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र

सेवानिवृत श्रमिक पेंशन योजना के लिए पंजीयन कैसे करे?

इस योजना के लाभ हेतु आप ऑफलाइन आवेदन कर सकते है इसके लिए पंजीकृत श्रमिक को श्रम संसाधन विभाग बिहार के ऑफिस में जाना होगा या फिर यहा पर क्लिक करके इसका ऑफलाइन आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते है

और वहा से आवेदन फॉर्म लेकर फॉर्म में पूछी गई जानकारी को भरकर आवेदन फॉर्म के साथ बताये गये दस्तावेज की फोटो कोपी लगानी है और फॉर्म को जमा कार्यालय में करवा देना है