बिहार नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना 2021 Form

बिहार नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना 2021 Nagd Puruskar Anudan Sahayata Yojana Application Form

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना पंजीयन फॉर्म के बारे में | nagd puruskar anudan sahayata yojana in hindi form | nagd puruskar anudan sahayata yojana kya hai | नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना का लाभ लेने के लिए क्या करना होगा | nagd puruskar anudan sahayata yojana online registration form | nagd puruskar anudan sahayata yojana ke baare me | नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन | नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के आवेदन की लास्ट तिथि |

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना पंजीयन फॉर्म के बारे में | nagd puruskar anudan sahayata yojana in hindi  form | nagd puruskar anudan sahayata yojana kya hai | नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना का लाभ लेने के लिए क्या करना होगा | nagd puruskar anudan sahayata yojana online registration form | nagd puruskar anudan sahayata yojana ke baare me | नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन | नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के आवेदन की लास्ट तिथि |

कामगार मजदूर जो बिहार राज्य के स्थाई निवासी है जिनके पास श्रमिक कार्ड है और वो भी कम से कम 1 साल पुराना सदस्यता प्रमाण पत्र के साथ ऐसे श्रमिकों के बच्चों को बिहार सरकार की और से नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के तहत 10000 रूपये से लेकर 25000 रूपये तक की नगद पुरूस्कार राशि प्रदान की जाती है इस राशि का लाभ श्रमिक के बच्चे कक्षा 10,12, या फिर उच्च शिक्षा में कम से कम 70% से अधिक अंक लाते है तो शिक्षा के स्तर को और अधिक बढाने हेतु इस नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना की सुरुआत बिहार सरकार की की है ताकि बच्चे प्रोत्साहन राशि की मदद से उच्च शिक्षा प्राप्त कर सके

श्रमिक परिवार की आर्थिक स्तिथि बहुत खराब पाई जाती है जिसके चलते बच्चे उच्च शिक्षा नही ग्रहण कर पाते है ऐसे में इस नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के जरिये मिलने वाली राशि की मदद से बच्चे शिक्षा की और अग्रसर होंगे नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना को बिहार श्रम संसाधन विभाग के नेत्रित्व में बिहार राज्य शिक्षा बोर्ड की और से संचालित किया जा रहा है नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के पंजीयन फॉर्म के बारे में और इसके साथ साथ इसमें लगने वाले दस्तावेज तथा इस नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना का मूल उदेश्य के बारे में इन सबके बारे में पूरी और विस्तारपूर्वक जानकारी समझने के लिए इस आर्टिकल में दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ ले

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना (Nagd Puruskar Anudan Sahayata Yojana) के बारे मे जानकारी:-

बिहार सरकार की और से राज्य में शिक्षा के क्षेत्र को और अधिक बढाने के नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना की सुरुआत की है इस योजन में श्रमिक परिवार के बच्चों को 10,12 वीं कक्षा में 70% अंक या फिर इससे अधिक अंक लाने पर 10 हजार रूपये से लेकर 25 हजार रूपये तक की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है इस राशि को प्राप्त वही बच्चे कर सकते है जिनके पिता या फिर माता पंजीकृत श्रमिक है और बिहार राज्य में कम से कम 10 वर्ष से स्थाई रूप से रह रहे है नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना का लाभ श्रमिक के पढने वाले बेटे और बेटी दोनों को दिया जाएगा

मगर इस नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के लाभ के लिए पंजीकृत श्रमिक के सिर्फ दो बच्चे ही अपना आवेदन कर सकते है क्योंकि किसी श्रमिक परिवार में अगर तीन बच्चे है तो उनमे से दो बच्चों को लाभ के लिए योग्य माना जाएगा इस योजना को देखा जाए तो इनाम योजना में ताकि बच्चे पढाई के क्षेत्र में और अधिक आगे बढ़ सके क्योंकि घर की आर्थिक हालत ठीक न होने के कारण काफी सारे बच्चे अपनी शिक्षा को बीच में छोड़ने को मजबूर हो जाते है शिक्षा बोर्ड बिहार सरकार की और से इस योजना को सुरु किया गया है

इस योजना के तहत जो भी खर्च बच्चों को पुरूस्कार देने हेतु आता है उसका पूरा पूरा वहन राज्य सरकार की और से किया जाता है श्रमिक के बच्चे इस नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के लाभ के लिए श्रमिक विभाग के कार्यालय में जाकर के अपना आवेदन करवा सकते है नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना में जो अनुदान राशि मुहहिया करवाई जाती है वो लाभार्थी बच्चों के बैंक खाते मे भेजी जाती है

इस प्रकार से दी जायेगी राशि:-

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के जरिये बच्चों के 10 और 12 वीं कक्षा में कम से कम 70% अंक आने जरूरी है आइये जानते है कितनी राशि कितने अंक आने पर दी जाती है

  • जिन विधार्थियों के 60% अंक आते है उन्हें 10000 रूपये की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है
  • जिन श्रमिकों के बच्चों के 10 वीं और 12 वीं कक्षा में 70% अंक आते है उन्हें 15000 रूपये की राशि दी जाती है
  • जिनके 80% या फिर इससे अधिक अंक आते है उन्हें 25000 रूपये की राशि दी जायेगी

आधार कार्ड लिंक अनिवार्य:-

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना ला लाभ लेने के लिए श्रमिक के बच्चों के नाम से बैंक में Account होना जरूरी होता है जिनके बैंक में अकाउंट है उनके बैंक खाते उनके आधार कार्ड और मोबाइल नंबर से लिंक होने भी अनिवार्य है तभी नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के जरिये भेजी जाने वाली धनराशी उनके बैंक खाते में भेजी जायेगी

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना से क्या अभिप्राय है?

ऐसे पंजीकृत श्रमिक को बिहार राज्य में स्थाई रूप से निवास कर रहे है जिनके पास खुद का लेबर कार्ड है ऐसे श्रमिकों के बच्चों यदि 10 और 12 वीं कक्षा में 70% या फिर इससे अधिक अंक लाते है तो उन्हें पुरूस्कार के रूप में 25000 रूपये तक की सहायता राशि अनुदान राशि के रूप में प्रदान की जाती है ये राशि बच्चोंको उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए दी जाती है क्योंकि श्रमिक परिवार के चलते बच्चों को उच्च शिक्षा नही मिल पाती है इसका मुख्य कारण है की श्रमिक गरीबी रेखा से निचे अपना जीवन निर्वाह करता है

जिसके चलते वह अपने बच्चों को शिक्षा नही दिला पाता है जिसके कारण बच्चे पढाई को बीच में छोड़ देते है जिससे राज्य में भी शिक्षा के स्तर में कमी देखने को मिल रही है राज्य में शिक्षा के स्तर को उपर उठाने तथा श्र्मीक बच्चों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के उदेश्य से इस नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना को लागू किया गया है इससे बच्चे पढ़ लिख सकेगे श्रमिक बच्चों को शिक्षा न मिल पाने के कारण बेरोजगारी स्तर में भी वृद्धि हो रही है जिसे भी रोकने हेतु बिहार सरकार की और से पूरा जोर लगाया जा रहा है नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के जरिये बच्चों को जो पुरूस्कार राशि दी जाती है वो उनके बैंक खाते में आवेदन के बाद भेजी जाती है

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना की मुख्य योग्यता के बारे में:-

  • लाभ लेने वाले बच्चे पंजीकृत श्रमिक परिवार से होने चाहिए
  • माता या पिता के नाम से स्वयं का लेबर कार्ड होना जरूरी है
  • बच्चों के 10 वीं और 12 वीं कक्षा में कम से कम 60% से लेकर 80% अंक आने जरूरी है
  • एक श्रमिक परिवार में सिर्फ दो बच्चों को इस नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना का लाभ दिया जाएगा
  • बच्चों के नाम से बैंक में खाता होना जरूरी है

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना से लाभ क्या क्या है?

  • इस योजना के तहत बच्चों को 10 हजार रूपये से लेकर 25 हजार रूपये तक की राशि 70% अंक 10 और 12 वीं कक्षा में लाने पर दी जायेगी
  • शिक्षा के स्तर को बढाने के उदेश्य से इस योजना को सुरु किया गया है
  • बच्चों को अपनी पढाई बिना पैसे के अभाव में बीच में नही छोडनी पड़ेगी

नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के लिए दस्तावेज:-

  • बच्चों के आधार कार्ड
  • 10 और 12 वीं की अंकतालिका
  • राशन कार्ड
  • श्रमिक का श्रमिक कार्ड
  • बैंक खाता संख्या
  • पेन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Nagd Puruskar Anudan Sahayata Yojana के आवेदन की प्रक्रिया क्या है?

  • इस योजना के लाभ के लिए बच्चों को श्रम विभाग बिहार के कार्यालय में आवेदन करना होगा
  • इसका ऑफलाइन आवेदन करना होता है जिसके लिए आप अपने घर बैठे इस Nagd Puruskar Anudan Sahayata Yojana का आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर ले यहाँ पर क्लिक करे
नगद पुरूस्कार अनुदान सहायता योजना के लिए दस्तावेज
  • इस फॉर्म को डाउनलोड करने के बाद आप इसे सही से भरकर कार्यालय में जमा करवा दे और आपको योजना मेमिलने वाली पुरूस्कार राशि मिल जायेगी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *