मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना 2021 (झारखण्ड) Apply Form

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना 2021 (झारखण्ड) Majdoor Putri Vivah Anudan Yojana Apply Form

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना Majdoor putri vivah anudan yojana online apply | मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना कब सुरु की गई है | majdoor putri vivah anudan yojana registration form | मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना से लाभ क्या क्या होने वाले है | majdoor putri vivah anudan yojana in hindi application form | majdoor putri vivah anudan yojana jharkhand form last date | मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना आवेदन प्रक्रिया क्या है |

Majdoor putri vivah anudan yojana online apply | मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना कब सुरु की गई है | majdoor putri vivah anudan yojana registration form | मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना से लाभ क्या क्या होने वाले है | majdoor putri vivah anudan yojana in hindi application form | majdoor putri vivah anudan yojana jharkhand form last date | मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना आवेदन प्रक्रिया क्या है |

पुत्री विवाह अनुदान योजना – Majdoor putri vivah anudan yojana

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना:-जो मजदूर झारखण्ड राज्य में कम से कम 10 वर्षों से रहते आ रहे है तथा जिनके पास 5 वर्ष की श्रम समाधान विभाग की और से जारी किया गया प्रमाण पत्र (लेबर कार्ड) है और पिछले पांच सालों से विभाग में नियमित समय पर अंशदान जमा करवाते आ रहे है उन मजदूरन को अपनी बेटियों के विवाह के लिए 30000 रूपये की अनुदान राशि आर्थिक सहायता राशि के रूप में दी जायेगी इसके लिए मजदूर को वापिस इस अनुदान राशि का भुगतान विभाग को नही करना होता है ये योजना सिर्फ मजदूर की पुत्री के विवाह के लिए सुरु किया गया है

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना में मिलने वाली तिस हजार रूपये की राशि के लिए मजदूर को अपनी पुत्री का विवाह से पहले या फिर विवाह के 3 महीने के अंदर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा तभी उसे मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना के तहत तीस हजार रूपये की राशि का लाभ दिया जाएगा अगर झारखण्ड राज्य का मजदूर अपनी पुत्री के विवाह के लिए केंद्र सरकार की किसी अनुदान योजना के तहत राशि प्राप्त कर लेता है तो भी उसे इस मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना से मिलने वाली अनुदान राशि पुत्री के विवाह के लिए दी जायेगी ये तिस हजार रूपये मजदूर की पुत्री के बैंक खाते में ऑनलाइन ट्रांसफर झारखण्ड सरकार की और से कर दिए जाते है इस मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना को झारखण्ड राज्य के सभी जिलों में सुरु कर दिया गया है

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना 2021 (Majdoor Putri Vivah Anudan Yojana Apply Form) के बारे में विस्तार से जानकारी:-

भवन वमन सनिर्माण कर्मकार मंडल झारखण्ड की और से बहुत सी योजनाओं को मजदूरों के लिए सुरु किया गया है उन योजनाओं के लाभ सिर्फ पंजीकृत मजदूरों को दिया आता है इस पोस्ट में हम झारखण्ड के श्रम समाधान विभाग की और से मजदूरों के लिए सुरु की गई योजना के बारे में जानकारी देंगे दरअसल में इस मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना के तहत पंजीकृत करवा चुके मजदूरों की पुत्रियों की शादी के लिए 30 हजार रूपये की आर्थिक अनुदान राशि दी जाती है इस अनुदान राशि के लाभ से मजदूर अपनी पुत्री का विवाह आसानी से कर सकता है मगर मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना का लाभ एक ही शर्त पर लिया जा सकता है

मजदूर के पास जारी किया गया सदस्यता प्रमाण पत्र कम से कम 5 साल का मजदूर के पास होना जरूरी है और वह पिछले पांच सालों से इस लेबर कार्ड (सदस्यता प्रमाण) के तहत समय समय पर जमा होने वाले हर साल अंशदान को जमा करवाता चला आ रहा है तो जो मजदूर अपनी पुत्री के विवाह के लिए मिलने वाली तीस हजार रूपये की आर्थिक अनुदान राशि को लेना चाहते है वो अपनी पुत्री के विवाह से एक महीने पहले आवेदन कर सकते है

या फिर पुत्री के विवाह के लगभग तीन महीने के बाद पुत्री का रजिस्ट्रेशन करवाकर अनुदान राशि को ले सकते है मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना का लाभ मजदूर अपनी सिर्फ दो बेटी के विवाह के लिए ले सकता है तीसरी पुत्री के विवाह के लिए अनुदान राशि को प्राप्त करने के लिए मजदूर आवेदन नही कर पायेगा

पुत्री 18 वर्ष से कम न हो:-

जैसा की आप सभी जानते है देश के सभी राज्यों में केंद्र सरकार की और से क़ानून लागू किया गया है की कोई व्यक्ति अपनी पुत्री का विवाह उसकी 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने से पहले नही कर पायेगा पुत्री की विवाह की आयु कम से कम 18 साल मानी गई है अगर कोई 18 साल से पहले अपनी पुत्री का विवाह करता है तो उसे कानूनी सजा का सामना भी करना पड़ता है इसी प्रकार इस योजना के तहत श्रमिक अपनी पुत्री का विवाह यदि 18 साल के बाद में करता है

तो उसे झारखण्ड सरकार की और से 30 हजार रूपये की अनुदान राशि दी जाती है और इतना ही नही ये भी तय किया गया है की यदि मजदूर की पुत्री की शादी जिस लडके के साथ होने जा रही है उसकी आयु 21 साल से कम नही होनी चाहिए

लेबर कार्ड योजना लिस्ट झारखण्ड श्रमिक कार्ड के फायदे

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना का उदेश्य क्या है इसके बारे में जानकारी?

जिन मजदूरों की आर्थिक स्तिथि कमजोर है और जो अपनी पुत्री के विवाह में लगने वाले धन का व्यय करने में असमर्थ है ऐसे मजदूरों की पुत्रियों के विवाह के लिए झारखण्ड सरकार की और से अनुदान राशि के रूप में 30 हजार रूपये की राशि दी जाती है ताकि मजदूर को उसके विवाह में लगने वाले धनराशी में कुछ सहायता मिल सके पुत्री की शादी से परेशान बहुत से मजदूर परिवार घर में पुत्री के जन्म को ही नही चाहते है और कुछ मजदोर परिवार में तो पुत्री के जन्म के तुरंत बाद ही उसे मार दिया जाता है

मजदूर परिवार की इस गलत अवधारणा को खत्म करने के उदेश्य से और मजदूर को पुत्री के विवाह के लिए अनुदान राशि के रूप में वित्तीय सहायता राशि देने के उदेश्य से इस मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना को सुरु किया गया है ताकि मजदूर को उसके विवाह के लिए कुछ सहायता मिल सके और महिला मृत्यु दर जो झारखण्ड राज्य में तेजी से बढ़ रहा है उसे रोकने में आसानी मिल जायेगी

मानदंड के बारे में:-

इस मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना के लाभ के इए मजदूर को आवेदन करते समय कुछ इस प्रकार के मानदंडो को पूरा करना होगा

  • मजदूर के परिवार में दो ही पुत्रियाँ होनी चाहिए यदि तीन है तो सिर्फ दो को लाभ दिया जाएगा
  • यदि पुत्री जुड़वा है तो तीसरी पुत्री को भी इस मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना का लाभ दिया जाएगा
  • मजदूर के पास श्रमिक कार्ड होना चाहिए कम से कम पांच साल पहले बनवाया हुआ
  • मजदूर झारखण्ड राज्य में कम से कम 10 साल से रह रहा है वहा का स्थाई निवासी है तो ही उसे सरकार की और से पुत्री के विवाह के लिए अनुदान राशि दी जायेगी
  • जिस पुत्री के विवाह के लिए योजना में रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है उसकी आयु 18 साल से कम नही होनी चाहिए
  • जिस लडके से पुत्री का विवाह किया जा रहा है उसकी आयु 21 साल की है तो ही योजना की अनुदान राशि मजदूर को दी जायेगी

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना से लाभ क्या होंगे?

  • इस मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना के जरिये मजदूर को उसकी पुत्री के विवाह के लिए 30 हजार रूपये की अनुदान राशि दी जायेगी
  • मजदूर की पुत्री के बैक खाते में या फिर मजदूर के बैंक खाते में इस राशि को ट्रांसफर कर जाएगा
  • जो परिवार पुत्री के विवाह में लगने वाले खर्च को नही उठा पाते अहि उन मजदूर परिवारों को अब अपनी पुत्री के विवाह करने में कुछ आसानी हो जायेगी

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना के लिए Document:-

  • मजदूर की पुत्री का आधार कार्ड
  • उसका बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • विवाह का कार्ड
  • मजदूर के स्वयं का आधार कार्ड
  • बैंक खाता संख्या
  • मजदूर का श्रमिक कार्ड
  • मजदूर का मोबाइल नंबर

मजदूर पुत्री विवाह अनुदान योजना में पंजीयन इस प्रकार से करे:-

Majdoor Putri Vivah Anudan Yojana के लिए मजदूर को अपने क्षेत्र के भवन एवं सनिर्माण कमर्कार मंडल की ऑफिस में जाना है और दस्तावेजों को आवेदन फॉर्म भरकर उसके साथ में लगाकर कार्यालय में जमा करवा देना है जिसके बाद उसे 30 हजार रूपये की राशि विवाह में लगे खर्च के भुगतान के लिए प्रदान की जायेगी Majdoor Putri Vivah Anudan Yojana के बारे में और भी जानकारी आप यहा क्लिक करके जान सकते है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *