ई-श्रमिक कार्ड पंजीयन फॉर्म 2021-22 e-Shrmik Card Online Form In Hindi

ई-श्रमिक कार्ड पंजीयन फॉर्म || e-Shrmik Card Online Form In Hindi || ई श्रमिक कार्ड के फायदे || लेबर कार्ड और ई श्रमिक कार्ड में अंतर || ई श्रमिक कार्ड कोण बनवा सकता है ||

e-Shrmik Card – केंद्र सरकार ने हाल में ई – श्रमिक कार्ड योजना शुरू कि है इस योजना के लिए मोदी सरकार ने E-shrmik Portel भी शुरू किया है eshram.gov.in इस पोर्टल के माध्यम से मजदुर स्वय को ऑनलाइन पंजीयन कर अपना ई श्रमिक कार्ड बनवा सकते है अगर आप मजदुर है (श्रमिक) है और आपने अभी तक ई श्रमिक कार्ड नहीं बनवाया है तो इस पोस्ट में हम आपको बतायंगे कैसे आप ई- श्रमिक कार्ड (E-Shrmik Card) के लिए पंजीयन कर सकते है व ई श्रमिक कार्ड के क्या क्या फायदे है लेबर कार्ड ई-श्रमिक कार्ड में क्या अंतर आदि पात्रता, दस्तावेज सम्पूर्ण जानकारी जाने

ई-श्रमिक कार्ड पंजीयन फॉर्म || e-Shrmik Card Online Form In Hindi || ई श्रमिक कार्ड के फायदे || लेबर कार्ड और ई श्रमिक कार्ड में अंतर || ई श्रमिक कार्ड कोण बनवा सकता है ||
e-Shrmik Card

About e-Shrmik Card – ई-श्रमिक कार्ड क्या है

eSHRAM – भारत सरकार असंगठित क्षेत्र व संगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिको कि सुरक्षा व आर्थिक स्थिति में सुधर लाने के लिए तरह तरह के काम कर रही है इसे में श्रमिकों के हितों की रक्षा और सुरक्षा, कल्याण को बढ़ावा देने और सामाजिक सुरक्षा प्रदान करके देश के श्रम बल के जीवन और सम्मान में सुधार के लिए लगातार काम कर रहा है। विभिन्न श्रम कानूनों के अधिनियमन और कार्यान्वयन द्वारा संगठित और असंगठित दोनों क्षेत्रों में श्रम बल के लिए, जो श्रमिकों की सेवा और रोजगार के नियमों और शर्तों को विनियमित करते हैं। और रोजगार मंत्रालय ने असंगठित श्रमिकों (NDUW) का एक राष्ट्रीय डेटाबेस बनाने के लिए eSHRAM पोर्टल विकसित किया है,

इस पोर्टल के माध्यम श्रमिको को कई तरह के लाभ व सुविधा दी जायगी जिसमे E-Shrmik Registration ई-श्रमिक के लाभ आदि के फॉर्म व जानकारी

ई श्रमिक का उद्देश्य – Objectives of eSHRAM 

निर्माण श्रमिकों, प्रवासी श्रमिकों, गिग और प्लेटफॉर्म श्रमिकों, स्ट्रीट वेंडरों, घरेलू श्रमिकों, कृषि श्रमिकों आदि सहित सभी असंगठित श्रमिकों (यूडब्ल्यू) का एक केंद्रीकृत डेटाबेस का निर्माण, आधार के साथ जोड़ा जाएगा। असंगठित कामगारों के लिए सामाजिक सुरक्षा सेवाओं की कार्यान्वयन दक्षता में सुधार करने के लिए।

(ii) सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का एकीकरण जो यूडब्ल्यू के लिए MoLE द्वारा प्रशासित किया जा रहा है और बाद में अन्य मंत्रालयों द्वारा भी चलाए जा रहे हैं।
पंजीकृत असंगठित श्रमिकों के संबंध में विभिन्न हितधारकों जैसे मंत्रालयों/विभागों/बोर्डों/एजेंसियों/केंद्र और राज्य सरकारों के संगठनों के साथ एपीआई के माध्यम से उनके द्वारा प्रशासित विभिन्न सामाजिक सुरक्षा और कल्याणकारी योजनाओं के वितरण के लिए जानकारी साझा करना।प्रवासी और निर्माण श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा और कल्याणकारी लाभों की सुवाह्यता। भविष्य में COVID-19 जैसे किसी भी राष्ट्रीय संकट से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों को एक व्यापक डेटाबेस प्रदान करना।

ई श्रमिक के फायदे (Benefites e-shrmik) Social Security Welfare Schemes

E-Shrmik Card से कई तरह के लाभ मिलते है जो लेबर कार्ड के तहत मिलते है उसी तरह ई-श्रमिक के तहत कई yojana के लाभ दी जाते है जो निम्न yojana का लाभ ले साकते है

  • प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) पेंशन योजना – 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद, लाभार्थी 3000/- रुपये की न्यूनतम मासिक सुनिश्चित पेंशन प्राप्त करने के हकदार हैं।
  • दुकानदारों, व्यापारियों और स्व-नियोजित व्यक्तियों (एनपीएस-व्यापारी) के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना – योजना के तहत, लाभार्थी 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद 3000/- रुपये की न्यूनतम मासिक सुनिश्चित पेंशन प्राप्त करने के हकदार हैं।
  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) – किसी कारण से मृत्यु होने पर 2 लाख रु
  • प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई) – आकस्मिक मृत्यु और पूर्ण विकलांगता के लिए 2 लाख रुपये और रुपये। आंशिक विकलांगता के लिए 1 लाख
  • अटल पेंशन योजना – अंशदाता अपनी मर्जी से 1000-5000 रुपये की पेंशन प्राप्त कर सकता है, या वह अपनी मृत्यु के बाद पेंशन की संचित राशि भी प्राप्त कर सकता है।
  • सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) – हर महीने 35 किलो चावल या गेहूं, जबकि गरीबी रेखा से ऊपर का परिवार मासिक आधार पर 15 किलो अनाज का हकदार है।प्रवासी श्रमिकों को जहां भी वे काम कर रहे हैं, खाद्यान्न प्राप्त करने में सक्षम बनाने के लिए वन नेशन वन राशन कार्ड (ओएनओआरसी) के रूप में लागू किया जा रहा है।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना – ग्रामीण (पीएमएवाई-जी) – लाभार्थी को मैदानी क्षेत्रों में 1.2 लाख रुपये की सहायता और रु. पहाड़ी क्षेत्रों में 1.3 लाख।
  • राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम (एनएसएपी) – वृद्धावस्था संरक्षण – केंद्रीय अंशदान @ 300 रुपये से 500 रुपये विभिन्न आयु वर्ग के लिए। राज्य सरकार के योगदान के आधार पर मासिक पेंशन 1000 रुपये से 3000 रुपये तक है।
  • आयुष्मान भारत-प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना (AB-PMJAY) – 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य कवरेज। माध्यमिक और तृतीयक देखभाल अस्पताल में भर्ती के लिए प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये मुफ्त।
  • बुनकरों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना (एचआईएस) – लाभार्थी 15,000 रुपये के पैकेज का लाभ उठाएंगे जिसमें पहले से मौजूद बीमारियां और नई बीमारियां दोनों शामिल हैं। चिकित्सा शर्तों के अनुसार राशि के वितरण के मामले में विभाजन इस प्रकार है- मातृत्व लाभ (पहले दो के लिए प्रति बच्चा) – 2500 रुपये, नेत्र उपचार – 75 रुपये, चश्मा – 250 रुपये, घरेलू अस्पताल में भर्ती- 4000 रुपये, आयुर्वेदिक / उन्नानी/होम्योपैथिक/सिद्ध- 4000 रुपये, अस्पताल में भर्ती (प्री और पोस्ट सहित)- 15000 रुपये, बेबी कवरेज-500, ओपीडी और प्रति बीमारी की सीमा- 7500 रुपये।
  • राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्त और विकास निगम (NSKFDC) – यह योजना सफाई कर्मचारियों, हाथ से मैला ढोने वालों और उनके आश्रितों को एससीए/आरआरबी/राष्ट्रीयकृत बैंकों के माध्यम से स्वच्छता संबंधी गतिविधियों सहित और भारत और विदेशों में शिक्षा के लिए किसी भी व्यवहार्य आय सृजन योजना के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है।
  • हाथ से मैला उठाने वालों के पुनर्वास के लिए स्वरोजगार योजना (संशोधित) – राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्त एवं विकास निगम (एनएसकेएफडीसी) द्वारा समय-समय पर आयोजित ऐसे प्रशिक्षणों की सूची से हाथ से मैला उठाने वाले और उनके आश्रितों को उनकी पसंद का कौशल प्रशिक्षण नि:शुल्क प्रदान किया जाएगा। रुपये का मासिक वजीफा। 3000/- (केवल तीन हजार रुपये) या समय-समय पर तय की जाने वाली कोई भी राशि एनएसकेएफडीसी द्वारा प्रेषित की जाएगी।

e-Shrmik Employment Schemes Benefites

  • MGNREGA (महात्मा गाँधी नरेगा योजना) – कोई भी आवेदक प्रति परिवार प्रति वर्ष 100 दिनों की सीमा के अधीन, 15 दिनों के भीतर काम करने का हकदार है।नियम और नीतियों के अनुसार वेतन दर में संशोधन किया गया है
  • दीन दयाल उपाध्याय-ग्रामीण कौशल योजना (डीडीयू-जीकेवाई) – दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्या योजना (डीडीयू-जीकेवाई) का उद्देश्य ग्रामीण युवाओं को कौशल प्रदान करना है जो गरीब हैं और उन्हें नियमित मासिक मजदूरी या न्यूनतम मजदूरी से ऊपर की नौकरी प्रदान करते हैं।
  • दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना (DDUAY) – इस योजना का उद्देश्य गरीबों को वित्तपोषण और समर्थन देकर कौशल और स्व-व्यवसाय को बढ़ाना है।
  • प्रधानमंत्री स्वनिधि – 10,000 रुपये तक कार्यशील पूंजी ऋण की सुविधा के लिए। नियमित चुकौती को प्रोत्साहित करना।
  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) – उपलब्ध कौशल के रास्ते पर सूचित विकल्प बनाने के लिए युवाओं के लिए एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाएं।कौशल प्रशिक्षण और प्रमाणन के लिए युवाओं को सहायता प्रदान करना। निजी क्षेत्र की अधिक भागीदारी के लिए स्थायी कौशल केंद्रों को बढ़ावा देना।
  • प्रधान मंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) – नए उद्यम स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने की योजना

e-Shram Card से फायदे कैसे ले ई-श्रम कार्ड कि योजनाओ के लाभ कैसे ले

योजना का नाम ई-श्रम (e-Shrmik Card)
लोंच डेट 26 August 2021
योजना टाइप श्रमिक योजना
लाभ श्रमिक योजना जीवन ज्योति योजना, पेंशन योजन, आवास योजना, PDS Benefites, Health Benefites etc,
Apply Start26 august 2021
official Website eshram.gov.in
Application TypeOnline Registration
Application Fees  totally free
locationall India

ई श्रमिक कार्ड और लेबर कार्ड में क्या अंतर है

e-Shrmik Card केंद्र सर्कार द्वारा शुरू किया गया मजदुर कार्ड होगा जब कि इसी तरह कि लेबर कार्ड yojana हर राज्य सरकारों द्वारा भी चलाई जा रही है जिसे हम लेबर कार्ड के नाम से जानते है इसी तरह के कुछ लाभ हमें राज्य सरकारों द्वारा शुरू लेबर कार्ड yojana में मिलता है और अब केंद्र सरकार ने भी देश के सभी श्रमिको को लाभ देने के लिए इस yojana यानी ई श्रमिक शुरू किया है जिसे कोई भी 16-59 वर्ष का मजदुर अपना ई श्रमिक कार्ड बनवा सकता है और लाभ ले सकता है |

e-Shrmik Card के लिए पात्रता (Eligibility E-shrmik Card)

  • पंजीयन के लिए आवेदक कि आयु 16-59 वर्ष होनी चाहिय
  • ईपीएफओ/ईएसआईसी या एनपीएस (सरकारी वित्त पोषित) का सदस्य नहीं
  • कोई भी कार्यकर्ता जो असंगठित क्षेत्र में एक गृह आधारित-कार्यकर्ता, स्व-नियोजित श्रमिक या मजदूरी कर्मचारी है,
  • जिसमें संगठित क्षेत्र का एक कर्मचारी भी शामिल है जो ईएसआईसी या ईपीएफओ का सदस्य नहीं है या सरकार का नहीं है। कर्मचारी को असंगठित श्रमिक कहा जाता है।
  • मजदूरी दिहाड़ी करने वाले मजदुर
  • लकड़ी चीरने वाले मजदुर
  • भवन निर्माण का कार्य करने वाले मिस्त्री व मजदुर
  • सड़क निर्माण का कार्य करने वाले मजदुर
  • बाल्डिंग करने वाले मजदुर
  • आदि इसी तरह के अनेको कार्य करने वाले वाले श्रेणी के मजदुर ई श्रमिक कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते है

ई-श्रमिक कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents required for Shramik Card

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता पास बुक
  • मोबाइल नंबर
  • फोटो

e-Shrmik Card Online Registration – ई श्रमिक कार्ड के लिए पंजीयन कैसे करे

  • ई श्रमिक कार्ड पंजीयन के लिए सबसे पहले आपको e-shram Portel पर जाना है
  • यहा आपके सामने पोर्टल का होम पेज ओपन होगा इस तरह का
ई-श्रमिक कार्ड पंजीयन फॉर्म || e-Shrmik Card Online Form In Hindi || ई श्रमिक कार्ड के फायदे || लेबर कार्ड और ई श्रमिक कार्ड में अंतर || ई श्रमिक कार्ड कोण बनवा सकता है ||
e-Shrmik Card Online Registration
  • यहा आपको सबसे पहले REGISTER on e-shram पर क्लिक करना है
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा
  • जिसमे आपको सबसे पहले अपने आधार नंबर दर्ज करने है
  • आपका आधार कार्ड मोबाइल नंबर के जुड़ा होना चाहिय
  • यहा आपको मोबाइल नंबर दर्ज करने के बाद आपको कैप्चा कोड दर्ज करने है
  • जिसके बाद आपको दो ऑप्शन सेलेक्ट करने है (EPFO) यानि आप किसी संगठन से है (ESIC) आप किसी कर्मचारी राज्य बीमा निगम से है
  • इसमें आपको Yes या No सेलेक्ट करना है
  • फिर आपको Send OTP पर क्लिक करना है और आपके मोबाइल पर एक OTP आयगा जो आधार कार्डके साथ जुड़े मोबाइल नंबर है उन पर
  • इसके बाद आप OTP दर्ज करे और आपके सामने एक फॉर्म ऑपन होगा
  • आपको उस फॉर्म में मांगी गई जानकारी दर्ज करनी है और सभी दस्तावेज आदि अपलोड कर देन है
  • सभी फॉर्म भरने के बाद आपको सबमिट करना है जिसके बाद आपके सामने आपका श्रमिक कार्ड बनकर तैयार हो जायगा
  • आप ई श्रमिक कार्ड को प्रिंट कर सकते है और डाउनलोड कर सकते है

update e-shram Card

पहले से रजिस्ट्रेशन किए हुए E-Shram Card Update कैसे करें अगर आपने ई- श्रमिक कार्ड के लिए अप्लाई किया है तो अगर आप कभी भी उस में अपडेट करना चाहे तो किस तरीके से कर सकते हैं इसके लिए आप निम्न स्टेप को फॉलो कर अपने श्रमिक कार्ड में अपडेट कर सकते हैं

  • सबसे पहले आपको ई-श्रम कार्ड पोर्टल पर जाना है
  • ई-श्रम पोर्टल पर आपके सामने एक ऑप्शन मिलेगा Already Registered? UPDATE
  • आप जैसे ही अपडेट पर क्लिक करते हैं आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा
E-Shram CSC Login Process || Self Registration e-sshram Card || CSC से ई-श्रम कार्ड कैसे बनाए || E-Shramik Card and Process ||
update e-shram Card
  • इस पेज में सबसे पहले आपको अपने मोबाइल नंबर दर्ज करना है जिससे आपने ई – श्रमिक कार्ड के लिए अप्लाई किया था
  • इसके बाद आपको इमेज में लिखे कैप्चा कोड दर्ज करने हैं
  • फिर आपको सेंड ओटीपी पर क्लिक करना है
  • अब आपके मोबाइल पर एक ओटीपी जाएगा वह ओटीपी आपको यहां पर दर्ज करना होगा
  • इसके बाद आपको सबमिट पर क्लिक करना है सबमिट पर क्लिक करने के बाद नया पेज ओपन होगा
  • इस पेज में आपको अपने आधार नंबर दर्ज करने हैं
  • जिसके बाद एग्री वाले बॉक्स पर ठीक करना है और आपको सबमिट पर क्लिक कर देना है
  • अब आपके मोबाइल पर जो आपके आधार कार्ड में दर्ज है एक ओटीपी आएगा
  • वह ओटीपी यहां पर आपको दर्ज करके सबमिट पर क्लिक करना है
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा इस पेज में आपका फॉर्म ओपन हो जाएगा
  • जिसमें आप कुछ लिमिट तक अपडेशन कर सकते हैं
  • तो इसी तरीके से ई श्रमिक कार्ड के अंदर ऑनलाइन अपडेट यानी सुधार किया जाता है

स्टेट वाइज लेबर कार्ड कैसे बनाए

अगर आपको स्टेट वाइज लेबर कार्ड बनाने है या लेबर कार्ड लिस्ट देखनी है तो आप अपने राज्य के नाम पर क्लिक कर श्रमिक कार्ड यानी लेबर कार्ड बनवा सकते है

e-shram Helpline Number – ई श्रमिक सिकायत नंबर

अगर आप ई श्रमिक कार्ड बनाने में किसी भी प्रकार कि समस्या आ रही है तो आप सहायता प्राप्त कर सकते है हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर इसके अलावा आपको कोई सिकायत दर्ज करवानी है तो भी आप e-shram contact Number पर कॉल कर सिकायत दर्ज करवा सकते है इसके लिए सरकार ने निम्न नंबर जारी किए है Helpdesk No. 14434

4 thoughts on “ई-श्रमिक कार्ड पंजीयन फॉर्म 2021-22 e-Shrmik Card Online Form In Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *