अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम 2021 {बिहार} Antim Sanskar

अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम 2021 {बिहार} Antim Sanskar Anudan Sahayata Yojana Form

Antim sanskar anudan sahayata yojana online apply | अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम आवेदन फॉर्म के बारे में | antim sanskar anudan sahayata yojana status check | अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम ऑनलाइन पंजीयन | antim sanskar anudan sahayata yojana online registration | antim sanskar anudan sahayata yojana in hindi | अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम का लाभ लेने के लिए |

अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम-इस आर्टिकल में हम आपको जानकारी देने वाले है की बिहार सरकार ने अपने राज्य में ऐसे श्रमिक परिवार जिनकी आर्थिक हालत बहुत खराब है जो गरीबी रेख के निचे रहकर अपना जीवन गुजारते है ऐसे श्रमिकों की मृत्यु पर उनके पीछे परिवार को उनके अंतिम सरकार के लिए सहायता राशि मुहहिया करवाई जाती है ताकि पीछे परिवार को अंतिम संस्कार के लिए किसी अन्य व्यक्ति से अधिक ब्याज दर पर धनराशी न लेनी पड़े और श्रमिक का हिन्दू रीतिरिवाज के अनुसार अंतिम संस्कार करवाया जा सके अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के तहत श्रमिक पे परिवार को उसकी मृत्यु के बाद 5000 रूपये की सहायता राशि बिहार सरकार की और से दी जाती है

इस राशि को प्राप्त करने हेतु श्रमिक परिवार को मुखिया की मृत्यु के लगभग 3 महीने के अंदर अंदर योजना से सम्बन्धित कार्यालय में जाकर के आवेदन करना होता है जिसके बाद ही परिवार को 5000 रूपये की राशि मुहहिया करवाई जाती है अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम का लाभ लेने के लिए श्रमिक के परिवार के किसी एक सदस्य को आवेदन फॉर्म भरना होगा और आवेदन फॉर्म में 18 प्रकार के सवालों को सही सही जबाव आवेदन फॉर्म में भरना है बिहार राज्य के तत्कालीन सरकार की इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के बारे में पूरी जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिल जायेगी

Antim sanskar anudan sahayata yojana online apply | अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम आवेदन फॉर्म के बारे में | antim sanskar anudan sahayata yojana status check | अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम ऑनलाइन पंजीयन | antim sanskar anudan sahayata yojana online registration | antim sanskar anudan sahayata yojana in hindi | अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम का लाभ लेने के लिए |

क्या है अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम (Antim Sanskar Anudan Sahayata Yojana):-

श्रम संसाधन विभाग बिहार सरकार की तरफ से पंजीकृत श्रमिकों के लिए इस Antim Sanskar Anudan Sahayata Yojana को सुरु किया गया है इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम का लाभ श्रमिक के परिवार को श्रमिक की मृत्यु के बाद दिया जाता है क्योंकि श्रमिक स्वयं इस योजना का लाभ नही ले सकता है इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के तहत श्रमिक के परिवार को उसकी मोत के बाद उसके दाह संस्कार के लिए 5000 रूपये की राशि दी जाती है इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के जरिये मिलने वाली राशि के लिए श्रमिक का मिरित्यु प्रमाण पत्र देना होगा

लाभ लेने वाला यदि श्रमिक की पत्नी है तो आवेदन फॉर्म में ये जानकारी भी भरनी होगी की श्रमिक शादीशुदा है और बहुत सी महत्वपूर्ण जानकारियाँ है जो आवेदक को आवेदन फॉर्म में भरनी होती है इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम का लाभ सिर्फ ऑफलाइन आवेदन करके लिया जा सकता है क्योंकि इसकी ऑनलाइन वेबसाइट के जरिये आप इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम में आवेदन फॉर्म नही भर पायेगे इतना ही नही इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के लाभ के लिए जिस श्रमिक की मृत्यु हुई है उसकी आयु 60 वर्ष से अधिक नही होनी चाहिए क्योंकि जिन श्रमिकों की आयु 60 व्स्ढ़ से अधिक हो जाती है उनके परिवार को अंतिम संस्कार के लिए 5000 रूपये की आर्थिक सहायता राशि नही दी जायेगी

इन श्रेणी के श्रमिकों को शामिल किया जाता है योजना में:-

अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के लाभ के लिए सरकार के तय नियमनुसार उन्ही श्रमिक को इस स्कीम में शामिल किया जाएगा जो निम्न प्रकार की श्रमिक श्रेणी में आते है

  • प्लम्बर
  • राजमिस्त्री
  • कारपेंटर
  • बिजली मिस्त्री
  • हथोड़ा चलाने वाले
  • रंगाई का काम करने वाले श्रमिक
  • पुताई का काम करने वाले
  • इंट भट्टों पर काम करने वाले
  • हेल्पर
  • चट्टान तोड़ने वाले
  • सड़क का काम करने वाले
  • निर्माण कार्य करने वाले आदि

बिहार मातृत्व लाभ अनुदान योजना 2021 Matritva Labh Anudan Yojana Online Apply Form

अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम का उदेश्य:-

सबसे बड़ी बात ये है की बिहार राज्य की इस योजना के लिए श्रमिक परिवार को आवेदन करने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नही देना होगा क्योंकि इस योजना का लाभ सरकार की और से बिलकुल मुफ्त दिया जाता है जैसा की आप सभी जानते है भी होंगे बिहार राज्य में सबसे ज्यादा श्रमिक लोग है श्रमिक की पूरी आमदनी रोज की कमाई से जुडी हुई है श्रमिक परिवार पूरी तरह से मुखिया पर आश्रित होता है ऐसे में यदि श्रमिक की मृत्यु हो जाती है तो परिवार के सदस्यों को काफी समस्या का सामना करना होता है बहुत से परिवार तो ऐसे है जो श्रमिक की मृत्यु के बाद उसके दाह संस्कार को भी रीतिरिवाज के अनुसार नही कर पाते है

क्योंकि अंतिम संस्कार में लगने वाले खर्च का वहन करने की आश्रित परिवार में क्षमता नही होती है ऐसे गरीब आश्रित परिवारों को बिहार सरकार की और से मुखिया श्रमिक की मृत्यु हो जाने पर दाह संस्कार के लिए 5000 रूपये की राशि दी जाती है जिससे आश्रित परिवार धार्मिक विधि के अनुसार श्रमिक का अंतिम संस्कार कर सके इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम का लाभ लेने के लिए श्रमिक का बेटा आवेदन कर सकता है और श्रमिक की पत्नी है तो बेटे की जग श्रमिक की पत्नी भी आवेदन कर सकती है यदि इन दोनों में से कोई नही है तो उसकी अविवाहित बेटी आवेदन करके अंतिम संस्कार के लिए 5000 रूपये की राशि प्राप्त कर सकती है

योजनाअंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम
आधिकारिक वेबसाइटक्लिक
अपडेट2021
राशि5000 रूपये
योजना किसके लिए श्रमिक की मृत्यु हो जाने पर दाह संस्कार के लिए
कोनसे राज्य में सुरु हुई हैबिहार में

श्रमिक की वार्षिक आय:-

अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के लाभ हेतु श्रमिक की वार्षिक आय भी तय की गई है यदि कोई श्रमिक ग्रामीण क्षेत्र से है तो उसकी आय 45000 हजार रूपये सालाना से अधिक नही होनी चाहिए और यदि कोई श्रमिक शहरी क्षेत्र से है तो उसकी सालाना आय 50000 रूपये से अधिक नही होनी चाहिए अधिक आय वाले लोगों को बिहार सरकार की और से श्रमिक नही माना जाता है इसलिए आवेदन करते समय ये ध्यान रखे की श्रमिक की वार्षिक आय निर्दारित मापदंड़ो से ज्यादा नही होनी चाहिए

आवेदन करने की सीमा:-

इस स्कीम का लाभ तभी लिया जा सकता है जब श्रमिक की मृत्यु हो जाने के 2 से 3 महीने के अंदर अंदर आवेदन किया जाए तो

अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के लिए पात्रता:-

बिहार सरकार की इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम का लाभ लेने के लिए श्रमिक को आश्रित परिवार को निम्न प्रकार की पात्रता का ध्यान रखना होगा क्योंकि आवेदन के समय श्रमिक आश्रित परिवार को पात्रता का ध्यान नही होता है जिसके चलते काफी सारी परेशानी आवेदन फॉर्म के समय आती है

  • आवेदन करने वाला श्रमिक के परिवार से होना चाहिए
  • श्रमिक की वार्षिक आय बताई गई है उपर के पेराग्राफ में उससे ज्यादा नही होनी चाहिए
  • बिहार राज्य के स्थाई श्रमिकों के आश्रित परिवार को इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम में शामिल किया जाएगा
  • आवेदन के समय श्रमिक का मृत्यु प्रमाण पत्र लगाना होगा
  • श्रमिक कम से कम 3 साल से सदस्यता प्रमाण पत्र लिए हुए है इसका प्रमाण
  • किसी अन्य योजना के तहत दाह संस्कार के लिए आर्थिक सहायता राशि परिवार न ले चूका हो

दस्तावेज:-

  • मृतक श्रमिक का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • श्रमिक आश्रित परिवार के किसी एक सदस्य का आधार क्रेड
  • श्रमिक के लेबर कार्ड में आवेदक सदस्य का नाम शामिल होना चाहिए
  • सदस्य का बैंक खाता नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाती प्रमाण पत्र
  • मूल निवाश प्रमाण पत्र आवेदक के नाम से या फिर मृतक श्रमिक के नाम से

अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम में आवेदन करने के लिए पंजीयन फॉर्म डाउनलोड करे:-

बिहार श्रम संसाधन विभाग की इस अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम के पंजीयन फॉर्म के लिए आपको ऑफलाइन आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना है जिसके लिए आप यहाँ पर क्लिक करे जिसके बाद इसका मुख्य पेज ओपन होगा उसके आप इस योजना के आवेदन फॉर्म को डाउनलोड कर ले जो इस प्रकार का होगा

इस पंजीयन फॉर्म को भरके आप दस्तावेजों के साथ जमा करवा दे श्रम संसाधन विभाग के ऑफिस में जिक्से बाद आपको कुछ ही दिनों बाद अंतिम संस्कार पर लगी धनराशी मुहहिया करवाई दी जायेगी

{बिहार} श्रमिक विकलांग पेंशन अनुदान स्कीम 2021 Shramiik Viklang Pension Anudan Scheme

4 thoughts on “अंतिम संस्कार अनुदान सहायता स्कीम 2021 {बिहार} Antim Sanskar Anudan Sahayata Yojana Form”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *